Who We Are

SRF Consultancy for Research & Publication, Books, Research Journal ISSN: 2394-3580 & ISBN, Support & Help for synopsis, M-Phil, Ph.D., Thesis Work, Project Work, Designing, Survey, Data Collection, Seminar & Conference etc.

स्वदेशी चेतना

प्रख्यात साहित्यकार टी.एस. इलियट को ‘द पीस’ शीर्षक वाली कविता पर नोबल पुरस्कार मिला| जानते है उसकी अंतिम पंक्ति है “ऊं शांति: शांति: शांति: |”

• अमेरिका के प्रथम जनक परमाणु परिक्षण के जनक पत्रकारों से चर्चा में परीक्षण के उस दृश्य को एक वाक्य में यह कहकर बताते है- “सूर्य कोटि – समप्रभ” |

• अलबर्ट आइंस्टीन कहते है – “मैंने गीता को अपनी प्रेरणा का मुख्या स्रोत बनाया है | यही मुझे सभी विज्ञान शोधों के लिए मार्गदर्शन देती है| यह मेरी थ्योरीयों की जनक है |”

• भौतिकी के नोबल पुरस्कार विजेता एवं वेव मेकेनिक्स के खोजकर्ता एडविन स्क्रोडिंगगर अपनी प्रख्यात पुस्तक “इन द एंटायर वर्ल्ड” के चौथे चेप्टर में कहते हैं-

Some blood transfusion from the east to the west to save western science from spiritual anemia

वे अनेक समस्याओं का समाधान उपनिषदों में बताते है |

• जर्मन भौतिकी नोबल विजेता डब्लू. हीसेनबर्ग जिनने सब एटोमिक पार्टिकल्स पर कार्य किया, कहते थे – “हिंदू दर्शन में कई बातें आश्चर्यजनक रूप से क्वांटम फिजीक्स के सिद्धांतों को सिद्ध करती है | वे हमारी सोच को सुद्रण करती है |”